राज्य

कानपुर: फिर बाहर आया Central Bank Locker का जिन्न, 1.9 Kg सोना, 600 gm चांदी से भरा लाकर ही गायब

कानपुर
कराचीखाना स्थित सेंट्रल बैंक आफ इंडिया के लाकरों का जिन्न एक बार फिर बाहर आ गया है। इस बार एक कारोबारी का पूरा लाकर ही गायब है। उसने बैंक में रखा 1.9 किलो सोना, 600 ग्राम चांदी और छह कैरेट डायमंड समेत लाकर न मिलने की जानकारी देते हुए कोतवाली में डीसीपी पूर्वी के कार्यालय में शिकायत पत्र दिया है। यह वही बैंक शाखा है, जिसमें अप्रैल में 11 लाकरधारकों के जेवर गायब हुए थे।  तिलक नगर निवासी व्यापारी रमेश खन्ना(उम्र 69) ने बताया की उनका और उनकी दादी स्व.देवकी देवी जी का संयुक्त खाता सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया कराचीखाना शाखा कानपुर में है।साथ में लॉकर भी है।अकाउंट का नंबर 6249 है और लॉकर नंबर 391बी है।

उनका यह लॉकर लगभग 45 वर्ष से भी ज्यादा पुराना है जिसमें लगातार जेवर आदि रखा जाता रहा है। लॉकर में उनके परिवार का लगभग 1 किलो 900 ग्राम सोना, 600 ग्राम चांदी व लगभग 6 कैरेट डायमंड था। कराचीखाना शाखा में लॉकरों से जेवर चोरी की घटना के बाद जब वे 27 अप्रैल को बैंक पहुंचे तो लॉकर नहीं मिलने की बात कही गई थी।  रमेश खन्ना के मुताबिक इसके बाद कई बार बैंक में संपर्क किया लेकिन कोई जवाब नहीं दिया गया। बार बार बैंक शाखा में 11 लाकरों से जेवर चोरी के मामले में ब्रांच मैनेजर के जेल में होने और सब अस्त व्यस्त होने की बात कहकर टरकाया जाता रहा। नए ब्रांच मैनेजर के नियुक्त होने के बाद ही आने पर ही लाकर ढूंढने का आश्वासन दिया जाता रहा।

रमेश खन्ना ने 15 जून 2022 को बैंक को पत्र लिखा, जिसका कोई जवाब नहीं मिला। फिर 29 जून 2022 को पत्र लिखा और अभी तक कोई जवाब नहीं मिला। रमेश लगातार बैंक से जानकारी और दस्तावेज मांगते रहे पर बैंक ने कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने यह भी पूछा की लॉकर Central Bank Locker बंद किया गया हो या तोड़ा गया हो,  जो भी हुआ हो उसकी सही जानकारी दी जाए लेकिन जवाब नहीं मिला। रमेश ने संदेह जाहिर किया है कि बैंक कर्मियों ने साजिश के तहत लॉकर से जेवर चोरी करके लॉकर को ही हटा दिया है। इसी वजह से बैंक लॉकर की जानकारी नहीं दे रहा।

व्यापारी नेता अभिमन्यु गुप्ता के साथ गुरुवार को रमेश खन्ना थाना फीलखाना गए और प्रकरण से अवगत कराकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की। रमेश खन्ना को शक है कि बैंक के पूर्व मैनेजर व लॉकर ऑपरेटर ने उनके पूरे लॉकर को गायब कर दिया है। अभिमन्यु गुप्ता ने बताया कि रमेश खन्ना वरिष्ठ नागरिक हैं और लॉकर Central Bank Locker गायब होने की खबर के बाद से मानसिक रूप से परेशान हैं। फीलखाना थाने में मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया गया है। एसएचओ फीलखाना ने कार्यवाही का आश्वासन दिया है। कहा, कि रमेश खन्ना को न्याय दिलवाने के लिए संघर्ष किया जाएगा। उनके साथ शुभ गुप्ता, सुनील काशीवार, अंकुर गुप्ता आदि रहे। डीसीपी पूर्वी प्रमोद कुमार ने बताया कि इस मामले में तहरीर मिली है जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया कराची खाना का मामला काफी दिनों से चर्चाओं में था ऐसे में उक्त लाकर धारक इतने दिनों तक कहां थे इसकी भी जांच की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button